यरुशलम पर US के खिलाफ भारत की वोटिंग पर भड़के स्वामी, खुश हुईं महबूबा

लाइव सिटीज डेस्क : येरूशलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले के खिलाफ यूनाइटेड नेशंस में वोट करने पर बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने केंद्र सरकार को घेरा है. तो वहीँ जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भारत सरकार की तारीफ की है. बता दें भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक प्रस्ताव के समर्थन में मतदान में 127 अन्य देशों का साथ दिया. यह प्रस्ताव अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के हाल के फैसले के विरुद्ध पेश किया गया था. नौ देशों ने प्रस्ताव के विरोध में मत दिया जबकि 35 देश मतदान से दूर रहे. ट्रंप ने अमेरिका के रुख का विरोध करने वाले देशों को चेतावनी दी थी जिसके एक दिन बाद भारत ने अमेरिका के विरुद्ध मत देने का फैसला किया.

हो गया फैसला, पढ़िए बीजेपी ने किसे चुना गुजरात का नया सीएम



बीजेपी सांसद सुब्रमण्यन स्वामी एक बार फिर पार्टी लाइन से बाहर जाते हुए कहा कि भारत ने यरुशलम मामले में संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका के खिलाफ वोट कर बहुत बड़ी गलती की है. स्वामी ने यह बयान ट्विटर पर दिया है. ‘यूएनजीए में फिलिस्तीन के समर्थन वाले प्रस्ताव पर वोट भारत के हित के खिलाफ है. फिलिस्तीन ने कश्मीर के मुद्दे और इस्लामिक आतंकी हमले पर कभी भी भारत का समर्थन नहीं किया है. जबकि इजरायल हमेशा भारत के साथ खड़ा रहा है.’

उन्होंने आगे लिखा, ‘भारत ने यरुशलम को इजरायल की राजधानी चुने जाने के अमेरिका के फैसले पर वॉशिंटन और इजरायल का समर्थन न कर बहुत बड़ी गलती की है.’

वहीं दूसरी ओर जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के अमेरिका के फैसले के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में भारत के वोट देने पर फक्र है. महबूबा ने ट्वीट कर कहा, “यह जानकर बहुत गर्व हुआ कि भारत ने यरुशलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के फैसले को खारिज करने वाले प्रस्ताव पर 100 देशों के साथ वोट किया है. यह वोट फिलीस्तीन को लेकर हमारे पक्ष और समर्थन को दर्शाता है.”