कश्मीर के युवाओं ने दिया आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब, सेना में भर्ती को दिल से दौड़े

लाइव सिटीज डेस्क : आतंकियों के गढ़ में ही कश्मीर के युवाओं ने आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब दिया है. आतंकी अपने नापाक इरादों को पूरा करने की लाख कोशिश कर लें, लेकिन जम्मू और कश्मीर के अमन पसंद लोग हर बार उन्हें करारा जवाब देते आए हैं.

हाल में ही आर्मी ऑफिसर उमर फयाज की अपहरण करने के बाद हत्या आतंकियों ने कर दी थी. इस हत्या के पीछे आतंकियों का यह मकसद था कि कश्मीर के युवाओं को यह संदेश दिया जाए कि वो सेना में भर्ती न होंं.

लेकिन शनिवार को जम्मू कश्मीर के युवा सेना में भर्ती होने के लिए दिल-ओ-जान से दौड़े. सेना में भर्ती होने के लिए आयोजित इस दौड़ में लड़कों के साथ लड़कियों ने भी बढ-चढ़कर हिस्सा लिया. इन युवाओं ने यह साबित कर दिया कि वो आतंकियों की धमकी से डरने वाले नहीं हैं.

जम्मू कश्मीर में 6000 ज्यादा पदों पर सब-इंस्पेकटर की वैकेंसी निकली हुई है. शनिवार को बख्शी स्टेडियम में पुलिस भर्ती के लिए रेसिंग ट्रैक पर घाटी के 2000 युवा दिल से दौड़े. सेना में भर्ती के लिए आईं लड़कियों का कहना है कि घाटी में आतंकवाद के चलते महिलाओं को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है और वे सेना में शामिल होकर आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब देना चाहती हैं. ये युवा यहां जम्मू-कश्मीर पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के पद के लिए फिजिकल टेस्ट (PET और PST) के लिए आए हुए थे. सब-इंस्पेक्टर के 698 पदों के लिए 67,218 उम्मीदवारों ने आवेदन किया है.  इनमें से 35,722 कश्मीर से थे. जबकि जम्मू से आने वाले उम्मीदवारों की संख्या 31,496 थी. इतना ही नहीं, कश्मीर से आने वाले युवाओं की संख्या जम्मू से आने वाले युवाओं की संख्या में काफी ज्यादा थी.

यह भी पढ़ें- चंद्रबाबू नायडू ने दिये सुझाव, बंद हों 500 और 2000 के नोट