एक और भाजपा नेता ने छोड़ी पार्टी, 10 जून को देगा ‘बीफ पार्टी’

लाइव सिटीज डेस्क : बीफ का मुद्दा रह-रह कर बीजेपी को परेशान करता रहा है. अ​ब नये मामले में मेघालय के भाजपा नेता बाचू माराक ने बीजेपी को छोड़ दिया है. वह इसलिए कि वे बीफ को नहीं छोड़ सकते थे. उन्होंने बीफ बैन के विरोध में पार्टी से अपना इस्तीफा दे दिया. इतना ही नहीं, उन्होंने बीजेपी को ईसाई विरोधी पार्टी बताया है.

जी हां, हम बात कर रहे हैं मेघायल के भाजपा नेता बाचू चामबुगॉन्ग माराक की. नॉर्थ गारो हिल्स जिले के अध्यक्ष के पद रहे माराक ने स्थानीय पत्रकारों से कहा कि बीफ खाना हमारी संस्कृति और परपंरा से जुड़ा है. साथ ही यह हमारी भावना से भी जुड़ा है. यही नहीं, उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर भी इस संबंध में लिखा है. दरअसल उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर बीफ पार्टी के आयोजन की घोषणा की थी. इसे लेकर पार्टी नेतृत्व की ओर से बाचू की काफी आलोचना हुई.

इसी फेसबुक पोस्ट में बाचू ने भाजपा से इस्तीफा देने की लिखी है बात

उधर इसके पहले वेस्ट गारो हिल्स जिले के अध्यक्ष बर्नार्ड को भी पार्टी ने बीफ मुद्दे पर ही पार्टी से निकाल दिया गया था. इससे भी बाचू पार्टी से नाराज था. इसके बाद उन्होंने अपना इस्तीफा राज्य के पार्टी अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह को सौंप दिया है. इतना ही नहीं, बाचू ने इस्तीफा देने के बाद फिर अपने फेसबुक पर पोस्ट किया है और 10 जून को बीफ पार्टी देने की बात ​कही है.

इस्तीफा देने के बाद बाचू ने लिखा 10 जून को है उनकी बीफ पार्टी.

बाचू ने यह भी कहा है कि मैं गारो की भावनाओं पर समझौता नहीं कर सकता. गारो जिला मेरे लिए एक जिम्मेदारी के रूप में है. इतना ही नहीं, उन्होंने ट्वीट कर भाजपा को ईसाई विरोधी बताया.

इसे भी पढ़ें : लालू का फ्रंट-फूट स्ट्रोक : पॉलिटिकल बैटिंग कर BJP के छक्के छुड़ायेंगे 
गुजरात के डिप्टी सीएम और उनके बेटे के खिलाफ कार्रवाई करायें भाजपा नेता