गौ हत्या के शक में भीड़ ने बुजुर्ग को बड़ी बेरहमी से पीटा, घर भी जला डाला

लाइव सिटीज डेस्कः झारखंड की राजधानी रांची से करीब 200 किलोमीटर दूर एक भयावह घटना सामने आई है. यहां कुछ लोगों ने गाय का शव देखने के बाद गिरिडीह जिले के बेरिया हटियाटांड गांव में उस्मान अंसारी के घर पर हमला कर दिया. पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तब तक भीड़ ने अंसारी को बुरी तरह से पीट डाला और उसके घर के एक हिस्से में आग भी लगा दी.

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता और एडीजी (संचालन) आरके मल्लिक ने कहा कि हमारे लोगों और अधिकारियों ने भीड़ को दूर किया और तुरंत अंसारी और उनके परिवार के सदस्यों को बचाया. जब पुलिस ने उन्हेें अस्पताल ले जाने की कोशिश की, तो भीड़ ने काफी प्रतिरोध किया. वहां भारी पत्थरबाजी की जा रही थी, जिस कारण हमें हवा में गोलियां चलानी पड़ीं.

वहीं पुलिस की ओर से भीड़ तितर-बितर करने के लिए की गई फायरिंग में एक व्यक्ति घायल हो गया. उसे इलाज के लिए धनबाद भेजा गया है. पुलिस ने भीड़ हटाने के लिए हवा में कई राउंड चलाए.

50 पुलिसकर्मी हुए घायल

भीड़ की ओर से किए गए पत्थरों के हमले में लगभग 50 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। भीड़ पर अत्याधिक उग्रता का आरोप लगाया गया. फिलहाल मौके पर 200 से ज्यादा सुरक्षाकर्मी और वरिष्ठ अधिकारी एहतियात के तौर पर तैनात किए गए हैं.

कैंप कर रहे हैं डीसी-एसपी

सूचना मिलते ही डीसी उमाशंकर सिंह व एसपी अखिलेश बी वारियर अधिकारियों व पुलिस के जवानों को लेकर घटनास्थल पर पहुंचे. खोरीमहुआ के एसडीओ रविशंकर विद्यार्थी, एसडीपीओ प्रभात रंजन बरवार, देवरी के बीडीओ कुमार देवेश द्विवेदी, देवरी थाना प्रभारी सुनीत कुमार, हीरोडीह थाना प्रभारी रंजीत रौशन, एसआई अथनाश केरकेट्टा, एएसआई विनय सिंह, संजीव कुमार सिंह दलबल के साथ मौके पर मौजूद हैं. गांव को छावनी में तब्दील है.

यह भी पढ़ें-
1986 की राह पर चल पड़ा गोरखालैंड आंदोलन, अब तक 150 करोड़ की संपत्ति बर्बाद