बीजेपी छोड़ राहुल गांधी के साथ दिखे नाना पटोले, रैली में पीएम मोदी पर लगाए आरोप

लाइव सिटीज डेस्क : हाल ही में लोकसभा और भाजपा से इस्तीफा दे चुके नाना पटोले ने चुनाव रैली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंच साझा किया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने दावा किया कि उनसे मिलने के लिए गये वरिष्ठ सांसदों के साथ उन्होंने ‘अभद्र’ व्यवहार किया था.

रैली को संबोधित करते हुये पटोले ने कहा कि उन्होंने भाजपा से अलग होने का निर्णय इसलिए लिया क्योंकि नरेन्द्र मोदी किसानों के मुद्दों को सुलझाने में नाकाम रहे और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के अपने वादों पर कायम नहीं रहे. महाराष्ट्र के भंडारा-गोंडिया संसदीय क्षेत्र से पूर्व सांसद ने आरोप लगाया कि एक बार मोदी से मिलने उनके आवास पर गये वरिष्ठ सांसदों के साथ उन्होंने अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया.



गौरतलब है कि महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता नाना पटोले ने 8 दिसंबर को घोषणा की कि उन्होंने लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है और बीजेपी को भी छोड़ दिया है. इसके बाद अगले दिन उन्होंने नागपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि पीएम मोदी राजनीतिक फायदे के लिए अपनी ओबीसी पृष्ठभूमि का इस्तेमाल कर रहे हैं, जबकि उन्होंने अत्यंत पिछड़ा वर्ग और किसानों के फायदे के लिए कुछ भी नहीं किया है. पीएम मोदी की नीतियों से खुश नहीं थे यह सांसद, लोकसभा से दिया इस्तीफा

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब नाना पटोले ने मोदी के खिलाफ आवाज उठाई हो. इससे पहले उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी को बिल्कुल भी पंसद नहीं है कि कोई उनसे सवाल पूछे. अगर कोई उनसे सवाल पूछता है तो वह नाराज हो जाते हैं. तब पटोले ने कहा था कि भाजपा सांसदों की एक बैठक में जब उन्होंने ओबीसी मंत्रालय और किसानों की आत्महत्या का मुद्दा उठाना चाहा तो पीएम मोदी मुझसे नाराज हो गए थे. पीएम ने मुझ गुस्से में चुप हो जाने के लिए कह दिया.

पटोले ने इससे पहले 2009 में किसानों के मुद्दे पर कांग्रेस से नाराज होकर उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था. 2014 के चुनाव में बीजेपी ने उन्हें सांसद का टिकट दिया था. वह चुनाव जीते और पहली बार सांसद बने. बावजूद इसके वह मोदी के प्रभाव में आए बिना अपनी बात मुखरता से कहते रहे थे.