तो क्या पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के पास महज 7 दिन ही बचे हैं…

लाइव सिटीज टीम : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. पाकिस्तान के वकीलों ने नवाज शरीफ को 7 दिन का अल्टीमेटल दे दिया है. पाकिस्तानी वकीलों का कहना है कि अगर नवाज शरीफ पनामा पेपर्स मामले में 7 दिनों के अंदर अपने पद से इस्तीफा नहीं देते हैं तो उनके खिलाफ पूरे पाकिस्तान में आंदोलन किया जाएगा.

दरअसल मामला पनामा पेपर्स के खुलासे से जुड़ा है. पनामा पेपर्स ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के परिवार की कथित अवैध संपत्तियों से जुड़ा है. इन संपत्तियों का खुलासा पनामा पेपर्स में हुआ था. पनामा पेपर्स के मुताबिक शरीफ के परिवार के मालिकाना हक वाली विदेशी कंपनियां करती थीं. याचिकाओं में न्यायालय से अपील की गई है कि भ्रष्टाचार में लिप्त होने के कारण शरीफ को अनुच्छेद 62 और 63 के तहत अयोग्य करार दिया जाए.

इन सब आरोपों को लेकर दोनों बार एसोसिएशन की ओर से जारी साझा बयान में कहा गया है, “दोनों बार एसोसिएशन का मानना है कि पनामा पेपर्स मामले में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के मद्देनजर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अब अपने पद बने नहीं रहना चाहिए और इस्तीफा दे देना चाहिए.” उन्होंने कहा कि पनामा मामले ने इस बात का स्पष्ट संकेत दिया है कि शरीफ और उनके बच्चों ने वित्तीय अनियिमताएं और भ्रष्टचार किए तथा जांच के लिए जेआईटी का गठन किया गया है. इस मामले की शुरुआत 3 नवंबर से मानी जाती है. न्यायालय ने 23 फरवरी को कार्यवाही पूरी करने से पहले 35 सुनवाई की थीं. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के खिलाफ वहां के वकीलों के इस अल्टीमेटल  के बाद सियासी हल्कों में सरगर्मी बढ़ गई  है.

यह भी पढ़ें- सुब्रमण्यम स्वामी ने सुपर स्टार रजनीकांत को लेकर यह क्या कह दिया