गुस्से में मंदसौर : नहीं थम रहा बवाल, भीड़ ने अब तक फूंक दिये दर्जन भर वाहन

बुधवार को दिन भर होता रहा प्रदर्शन

लाइव सिटीज डेस्क : मध्य प्रदेश का मंदसौर गुस्से में है. किसानों का आंदोलन थम नहीं रहा है. उनका दो दिनों से उग्र प्रदर्शन जारी है. यूं कहें पूरा इलाका युद्ध का मैदान बन गया है. पांच किसानों की फायरिंग में हुई मौत से वे इतने आक्रोशित थे कि बुधवार को प्रदर्शनकारियों ने पिपलियामंडी में कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए जबर्दस्त हंगामा किया. सूत्रों की मानें तो दो दिनों में अब तक दर्जन भर वाहनों को लोगों ने फूंक दिया. हालांकि गुरुवार को स्थिति का जायजा लेने राहुल गांधी मंदसौर पहुंचने वाले हैं. भाजपा ने राहुल गांधी की इस यात्रा का विरोध किया है. वहीं आज किसानों की ऋण माफी पर सहमति पर मुहर लगने की उम्मीद जतायी जा रही है.

बता दें कि मंगलवार को मंदसौर में फायरिंग में 5 किसानों की मौत हो गयी थी. इस कांड में मध्य प्रदेश की पुलिस ने बुधवार को स्वीकार कर लिया कि आंदोलन करनेवाले किसानों पर पुलिस ने ही फायरिंग की थी. इसकी पुष्टि आइजी विधि व्यवस्था मकरंद देउसकर ने की है. उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने ही फायरिंग की थी. गौरतलब है कि कल तक राज्य सरकार के मंत्री से लेकर अफसर तक अराजक तत्वों के माथे पर ठीकरा फोड़ रहे थे. उधर सरकार ने काफी विरोध के बाद मंदसौर के डीएम स्वतंत्र कुमार और एसपी ओपी त्रिपाठी को हटा दिया है. शिवपुरी के डीएम को मंदसौर की कमान दी गयी है.

बुधवार को दिन भर होता रहा प्रदर्शन

सूत्रों की मानें तो 2000 करोड़ की ब्याज माफी की बात पर गुरुवार को सहमति बन सकती है. आज केंद्र की ओर से इसकी घोषणा किये जाने की उम्मीद है. इसी के लिए कई दिनों से किसान आंदोलन कर रहे हैं. मंगलवार को प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग की गयी, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गयी. बुधवार को भी मंदसौर समेत आसपास के इलाकों में जबर्दस्त प्रदर्शन हुआ. देवास में तो महंगी कारें व बसें प्रदर्शनकारियों ने फूंक दी. सरकार ने प्रदर्शनकारियों से निबटने के लिए केंद्रीय सुरक्षा बलों की पांच और कंपनियों को मांगा है. केंद्र की ओर से 1100 दंगा विरोधी पुलिस बल मंदसौर भेजे गये हैं. सूत्रों के अनुसार मंदसौर समेत नीमच, रतलाम में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है.

मंदसौर में नहीं थम रहा किसानों का बवाल

गुरुवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मंदसौर पहुंच रहे हैं. उन्हें बुधवार को ही मंदसौर जाना था. लेकिन स्थिति इतनी अधिक गड़बड़ थी कि उनका दौरा एक दिन के लिए टल गया. इधर बीजेपी ने राहुल गांधी की इस यात्रा का विरोध किया है और कहा है कि इससे वहां के हालात और बिगड़ेंगे. स्थानीय स्तर पर बीजेपी और कांग्रेस के कई नेता वहां जाना चाह रहे थे, लेकिन प्रशासन ने उन्हें रोक दिया था.

इसे भी पढ़ें : किसानों की मौत पर भड़के तेजस्वी, कहा- क्या यही है New India  
बीजेपी ऑफिस पर पेट्रोल बम से हमला, केरल में दिया अंजाम