बोले तोगड़िया : न सरहद पर सैनिक सुरक्षित न देश के किसान खुशहाल

लाइव सिटीज : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर उनके कुनबे के ही लोग निशाना साधने लगे हैं. सरहद पर मारे जा रहे सैनिकों के मामाले में अब विश्व हिन्दू परिषद के अन्तरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. प्रवीण तोगड़िया ने केन्द्र सरकार को आड़े हाथों लिया.

तोगड़िया ने इशारे ही इशारे में आज कहा कि सरहद पर ना तो सैनिक सुरक्षित हैं और न ही गांवों में किसान खुशहाल है. तोगड़िया ने मीडिया के साथ बात-चीज के दौरान यह बयान दिया. तोगड़िया के इस बयान के बाद राजनीतिज गलियारों में हलचल मचनी शुरू हो गई है. प्रवीण तोगड़िया के इस बयान को राजद सांसद मिसा भारती ने रिट्विट भी किया है.

प्रवीण तोगड़िया ने केन्द्र सरकार की सुरक्षा और देश नीति पर हमला करते हुए कहा कि सरहद पर सैनिकों के सिरों का कोई काटकर ले जाता है और गांवों में किसान की स्थिति ऐसी है कि उसे अपने कृषि उपजों का उचिच दाम नहीं मिल पा रहा है. उन्होंने आगे कहा कि किसानों को पहले मिर्च के दाम 12,000 रुपए प्रति क्विंटल मिल रहे थे, लेकिन अब 1,500 रुपए प्रति क्विंटल भी नहीं मिल रहा हैं जबकि अरहर एवं अनेक अन्य अन्न उत्पादन की स्थिति है. इनकी कीमतें भी बहुत कम हो गई हैं.

तोगड़िया ने केन्द्र सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि सेना भी सुरक्षित रहे और किसान भी खुशहाल रहे. इसके लिए (केंद्र सरकार) काम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को ईंट का जवाब पत्थर से देना चाहिए. हाल ही में पाकिस्तानी सेना द्वारा दो भारतीय सैनिकों के सिर काटने के मामले में केन्द्र सरकार की सोशल मीडिया सहित पूरे देश में आलोचना हो रही है.

इस मुद्दे पर तोगड़िया ने कहा कि सेना के दो सिरों की कीमत पाकिस्तान के 50 सिरों से लेना चाहिए.