मनोज तिवारी VS विजय गोयल, दबदबे को लेकर दोनों आमने-सामने

लाइव सिटीज टीम : दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और केंद्रीय मंत्री विजय गोयल के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है. दिल्ली की राजनीतिक पटल पर अपना दब-दबा बढ़ाने के लिए दोनों नेता खुलकर सामने तो नहीं आ रहे लेकिन मनमुटाव की खबरें जोरों पर हैं.

तकरार की खबर की तस्दीक तब हुई जब विजय गोयल ने अपने घर पर पार्षदों के अभिनंदन के लिए एक समारोह रखा. बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम को करने से पहले प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी से नहीं पूछा गया. इस बात को लेकर मनोज तिवारी काफी नाराज चल रहे हैं. पार्षदों को यह भी सूचना दी गई थी कि यह कार्यक्रम प्रदेश बीजेपी की ओर से नहीं है.

इसके बावजूद कुछ पार्षद इस कार्यक्रम में शामिल होने गए. अब ऐसे पार्षदों को संगठन की ओर से कारण बताओ नोटिस भेजने की तैयारी भी चल रही है. जानकारी के मुताबिक तीन पार्षदों को सीधे तौर पर यह कहा गया था कि वो ऐसे कार्यक्रम में ना जाएं फिर भी तीनों पार्षदों ने कार्यक्रम में शामिल हुए. इस बात पर दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि हमारी कोशिश है कि संगठन के समानांतर कोई गतिविधि न चले.

इस पूरे मामले पर केन्द्रीय मंत्री विजय गोयल का कहना है कि यह कार्यक्रम मंत्रालय की ओर से स्लम आंदलन नामक कार्यक्रम था. जिसमें पार्षदों को बुलाया गया था. उन्होंने आगे बताया कि इस कार्यक्रम के तहत स्लम बस्तियों को गोद लेना है.लिहाजा पार्षदों के ज़रिए ही इन स्लम बस्तियों को गोद लेने का प्लान है। इस कार्यक्रम के तहत 26 मई को स्लम दौड़ भी रखी गई है. मंत्रालय के कार्यक्रम करने के लिए उन्हें किसी से मंज़ूरी लेने की ज़रूरत नहीं है.

यह भी पढ़ें- हार्दिक पटेल ने कराया मुंडन, प्रधानमंत्री मोदी के आने से पहले निकाला विरोध मार्च

 मोदी के स्वच्छ प्रशासन के दावे बेअसर, 1800 से ज्यादा IAS ने नहीं सौंपा अचल संपत्ति का ब्योरा