नेशनल हेराल्ड मामला : सोनिया-राहुल की कंपनी की जांच करेगा IT विभाग

SONIYA-RAHUL
फाइल फोटो

लाइव सिटीज डेस्क : दिल्ली हाई कोर्ट ने गांधी परिवार को बड़ा झटका दिया है. चर्चित नेशनल हेराल्‍ड मामले में कोर्ट ने ‘यंग इंडिया’ कंपनी के खातों की इनकम टैक्स जांच का रास्ता साफ़ कर दिया है. इस मामले में पहले इनकम टैक्स विभाग की जांच को रोकने के लिए कांग्रेस ने दिल्ली हाई कोर्ट में रिट याचिका दाखिल की थी. कोर्ट के निर्देश के बाद कांग्रेस ने अपनी याचिका वापस ले ली. कांग्रेस अध्‍यक्षा सोनिया गांधी व उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ‘यंग इंडिया’ कंपनी के डायरेक्टर हैं. साथ ही ये दोनों इस मामले में 5000 करोड़ रूपये के कथित गबन के भी आरोपी हैं.



कोर्ट ने कांग्रेस को इनकम टैक्स अधिकारियों के सामने अपनी बात रखने का निर्देश दिया है. कांग्रेस नेता एवं इस मामले में गांधी परिवार के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने आरोप लगाया है कि विरोधी कोर्ट में शुक्रवार को हुई बहस के बारे में तथ्यहीन और मनगढ़ंत बातें मीडिया में फैला रहे हैं.

बता दें कि यंग इंडियन लिमिटेड कंपनी में सोनिया और राहुल गांधी की हिस्सेदारी है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट अब यंग इंडिया के खातों में कथित हेराफेरी की जांच करेगा. आरोप है कि यंग इंडियन लिमिटेड नाम से एक कंपनी बनाई गई थी, जिसने नेशनल हेराल्‍ड की पब्लिशर एसोसिएटिड जरनल लिमिटेड (AJL) को टेकओवर किया.

SONIYA-RAHUL

इस मामले में बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कोर्ट का रुख किया था. उन्होंने अपनी अर्जी में आरोप लगाया था कि सोनिया गांधी व अन्य ने मिलकर षड्यंत्र रचा. जिसके बाद असोसिएटिड जरनल लिमिटेड को 50 लाख रुपये देकर यंग इंडिया ने 90.25 करोड़ रुपये वसूलने का अधिकार ले लिया. स्वामी ने कहा था कि सोनिया और राहुल गांधी ने नेशनल हेराल्‍ड की पांच हज़ार करोड़ की संपत्ति पर कब्जा कर लिया है.

यह भी पढ़ें :
रेलवे ने जारी किया आदेश : सुपरफ़ास्ट-जनशताब्दी ट्रेनों में भी मरीजों को मिलेगा डिस्काउंट
‘ट्रिपल तलाक’ को SC ने बताया शादी खत्म करने का सबसे घटिया तरीका
वायरल फोटो : क्या कपिल मिश्रा-मनोज तिवारी ने मिलकर रची साजिश?