छापा मारने के लिए आयकर अधिकारियों ने सजाई ‘बारात’

CAR

लाइव सिटीज डेस्क : आपने इतिहास में उस राजा की कहानी जरूर सुनी होगी, जिसने अपनी रानी को भेजने की बात कहकर पालकी में रानी की जगह सिपाही भेज दिये थे. कुछ ऐसा ही वाकया गुरुवार को कर्नाटक में हुआ. जब आयकर विभाग के अधिकारी रेड करने के लिए कॉफी कारोबारी के ठिकाने पर पहुंचे. रास्ता उन्होंने ऐसा अपनाया कि जिस किसी ने भी देखा तो देखता ही रह गया. जब तक समझ आया आयकर टीम खेल कर चुकी थी.

दरअसल आयकर विभाग के अधिकारियों को कॉफी का कारोबार करने वाली एक कंपनी के मालिकों पर छापा मारना था. उन्हें इस बारे में कानोंकान भनक ना हो, इसके लिए अधिकारियों ने पूरी गोपनीयता बरती और एक खास योजना बनाई. 40 से ज्यादा आयकर अधिकारियों ने एक नकली बारात तैयार की और इसी बारात के बहाने आरोपी के घर और ऑफिस परिसर में घुस गए. अधिकारियों की यह टीम 13 इनोवा कारों में बैठकर छापा मारने गई. सभी कारों को बारात की गाड़ियों जैसा सजाया गया. उनपर फूल लगाए गए और ‘दीवाना परिणय कोमला’ का कार्ड भी चिपकाया गया. अधिकारी नहीं चाहते थे कि किसी को भी उनपर शक हो और इसीलिए उन्होंने तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ी.

आयकर अधिकारियों को SLN ग्रुप के पार्टनर्स एन. सथप्पन और एन. विश्वनाथन के घर और ऑफिर में घुसना था. आखिरी समय तक किसी को भी अधिकारियों पर शक नहीं हुआ. वह तो जब उन्होंने सथप्पन और विश्वनाथन को अपना परिचय दिया, तब जाकर यह पूरा भेद खुला. यह छापेमारी सुबह 8 बजे शुरू हुई. आयकर अधिकारियों ने SLN कॉफी ग्रुप के परिसरों और अन्य संपत्तियों पर छापा मारा. इस ग्रुप के अन्य सहयोगी बिजनस ग्रुप्स पर भी छापा मारा गया. सूत्रों का कहना है कि सथप्पन और विश्वनाथन UPA सरकार में केंद्रीय मंत्री रह चुके पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के रिश्तेदार हैं.

यह भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट सख्त, कहा- एक्ट में बिना संशोधन नियुक्त हो लोकपाल

मिशन उड़ान : अब ‘हवाई चप्पल’ वाला भी हवाई जहाज में करेगा सफर