VIRAL : भारत आये विदेशी सांसद ने गाया भोजपुरी में गाना, हैरान रह गए सभी

OREE-GOKARAN11

नई दिल्ली : देश की राजधानी में आज मंगलवार से शुरू हुए ‘प्रथम प्रवासी भारतीय सांसद सम्मेलन’ में मॉरिशस के सांसद ओरी गोकरण की खासी चर्चा हो रही है. वजह है उनके द्वारा गाया गया एक भोजपुरी गाना. ओरी गोकरण ने इस दौरान समाचार एजेंसी से बात करते हुए भोजपुरी गाना गाकर सुनाया. उनके गाये इस भोजपुरी गाने का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. मालूम हो कि मॉरीशस की आधी आबादी भोजपुरी भाषी है. आधे मॉरिशस का बहुत गहरा बिहार कनेक्शन है.

दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में भाग लेने आये ओरी गोकरण ने एक बोजपुरी गीत की कुछ पंक्तियां गाकर सुनाईं. उनके द्वारा गाये गीत की पंक्तियां हैं – बलमा सुतेला सुखनिंदिया..जगलो नहीं जागे, जगलो नहीं जागे हे राम. घिर आईल कारी हो बदरिया, हमें तो डर लागे हो राम. उन्होंने आगे गाया – सासु-ननद बैरिनिया..कोठरिया से झांके, कोठरिया से झांके हो राम. गोकरण के गाये इस गीत के वीडियो को आप नीचे देख सकते हैं.

हैरान रह गए लोग

ओरी गोकरण को इस तरह भोजपुरी गीत गाते देख वहां मौजूद लोग हैरान रह गए. हालांकि जिन्हें मॉरिशस का भोजपुरी कनेक्शन पता था, उन्हें कोई आश्चर्य नहीं हुआ. गोकरण ने इस दौरान इंडिया को एक प्रगतिशील देश बताया है. उन्होंने बताया कि मॉरिशस की सरकार भोजपुरी भाषा को बढ़ावा देने के लिए कई कार्यक्रम चला रही है.

पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

इससे पहले कार्यक्रम का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया. कॉन्फ्रेंस में अपने संबोधन में पीएम ने एक तरफ जहां अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा की, वहीं उन्होंने भारतीय मूल्यों और आदर्शों का भी जिक्र किया. उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में आने वाले निवेश में से आधा पिछले तीन वर्षों में आया है. पिछले वर्ष देश में रिकॉर्ड 16 अरब डालर का निवेश आया. यह सरकार की ओर से दूरगामी नीतिगत प्रभाव वाले निर्णयों के कारण आए हैं जो सुधार और बदलाव के मार्गदर्शक सिद्धांत पर आधारित हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने दुनियाभर के प्रवासी भारतीय सांसदों से भारत की प्रगति में हिस्सेदार बनने और देश के आर्थिक विकास में उत्प्रेरक की भूमिका निभाने की अपील भी की.

पहली बार पार्लियामेंट्री कॉन्फ्रेंस

बतात४ए चलें कि हर साल 9 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस मनाया जाता है. इसमें विदेशों में रह रहे प्रभावशाली NRI भारतीय दिल्ली में जुटते हैं. हालांकि इस बार केंद्र सरकार ने नई शुरुआत करते हुए प्रवासी भारतीय दिवस के दौरान ही पहली पार्लियामेंट्री कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया है. इसमें अलग-अलग देशों के एनआरआई सांसद पहुंचे हैं. इस दौरान विदेश में रह रहे भारतीय मूल के लोगों द्वारा अपने देश के लिए किए गए योगदान की चर्चा हुई.

बिहार में हुए पुलिस भर्ती घोटाले को दिखाएगी भोजपुरी फिल्‍म ‘नथुनिये पे गोली मारे 2’
कॉमनवेल्थ गेम्स में कल्पना बिखेरेंगी भोजपुरी की मधुर स्वर लहरियां