इकबाल कासकर के बाद अब पकड़ा गया डॉन डी के राव

लाइव सिटीज डेस्क : इकबाल कासकर की गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र पुलिस का अंडरवर्ल्ड सरगनाओं के खिलाफ घेरा और कसता जा रहा है. गुरुवार को मुंबई क्राइम ब्रांच ने डॉन डी के राव को हिरासत में लिया है. एक विश्वस्त सूत्र ने इस खबर की पुष्टि की है. डी.के. राव दो बार एनकाउंटर में जिंदा बच चुका है.

राव लंबे समय तक छोटा राजन के साथ जुड़ा रहा था. पिछले दो दशक में उसका ज्यादातर समय जेल में ही बीता है. कुछ समय पहले ही वह जेल से बाहर आया था. उसका मूल नाम रवि मल्लेश वोरा है. पर कई साल पहले लेडी सिंघम के नाम से मशहूर इंस्पेक्टर मदुला लाड के साथ हुए एनकाउंटर में जब वह घायल हुआ था, तो उसकी जेब से एक बैंक का फर्जी आई कार्ड मिला था. इसमें उसका नाम डी के राव लिखा हुआ था. तब से अंडरवर्ल्ड में उसे इसी नाम से जाना जाने लगा.

जब डी शिवानंदन मुंबई क्राइम ब्रांच चीफ थे, तब दादर में हुए एक एनकाउंटर में चार लोग मारे गए थे. डी के राव उस मुठभेड़ में घायल हो गया था. छोटा राजन के दो साल पहले भारत डिपोर्ट किए जाने के बाद उसका गैंग मुंबई में अब लगभग खत्म हो चुका है. इसलिए अभी यह साफ नहीं हुआ है कि डी के राव खुद का गिरोह चला रहा था या किसी और गिरोह से जुड़ गया था.

पिछले एक महीने में ठाणे पुलिस ने दाऊद और रवि पुजारी गिरोह के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. दाऊद के भाई इकबाल को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ बुधवार को मकोका भी लगा दिया गया है. मुंबई में डी के राव के हिरासत में लिए जाने के बाद अंडरवर्ल्ड के लगभग सभी सरगनाओं को पुलिस की तरफ से एक तरह से सख्त संदेश देने की कोशिश की गई है.

यह भी पढ़ें –

iPhone 8 पटना को सबसे पहले गिफ्ट करेगा चांद बिहारी ज्वैलर्स, सोने के सिक्के तो फ्री हैं ही
धनतेरस में करें रॉयल जूलरी की शॉपिंग, कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
करवाचौथ पर Lover को दें Princess Cut Diamond, चांद बिहारी ज्वैलर्स लाए हैं नया कलेक्शन
धनतेरस पर बेस्ट आॅफर दे रहे हैं हीरा-पन्ना ज्वैलर्स, Turkish जूलरी के साथ Gold Coin भी फ्री
स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI मेंअपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरीनया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदेंमुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स मेंप्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़ेआज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)