गैर बीजेपी-गैर कांग्रेस दलों को एकजुट करने वाले एन चंद्रबाबू नायडू की सीएम की कुर्सी भी गई !

आंध्र प्रदेश के मुख्यैमंत्री और तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) नेता चंद्रबाबू नायडू

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: ईवीएम को लेकर लगातार सवाल उठाने वाले और लोकसभा चुनाव के बाद विपक्षी दलों को एकजुट करने की कवायद में लगे रहे आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री और तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) नेता चंद्रबाबू नायडू की सीएम की कुर्सी जाना भी लगभग तय है. आंध्र प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना का काम जारी है.

अभी तक के प्राप्‍त रुझानों के अनुसार जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने राज्‍य की 175 सीटों में से 138 सीटों पर बढ़त बना ली है जबकि नायडू की पार्टी टीडीपी केवल 30 सीटों पर ही आगे चल रही है. यहां बहुमत आंकड़ा 88 सीटों का है. इस तरह वाईएसआर कांग्रेस स्‍पष्‍ट बहुमत की ओर बढ़ रही है. आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू शुरुआती रुझान में कुप्पम विधानसभा क्षेत्र में पीछे चल रहे हैं.

चुनाव आयोग के आंकड़ों में यह जानकारी मिली है. पहले चरण की मतगणना के बाद तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख वाईएसआर कांग्रेस के कृष्ण चंद्र मोउली से 67 वोट से पीछे चल रहे हैं. डाक से प्राप्त मतों की गिनती के बाद वाईएसआर कांग्रेस 175 विधानसभा सीटों और 25 लोकसभा सीटों पर 11 अप्रैल को हुए मतदान में आगे चल रही है. वाईएसआर कांग्रेस के जगनमोहन रेड्डी पुलीवेंदुला विधानसभा क्षेत्र में दो हजार से अधिक मतों से आगे चल रहे हैं.

अगर लोकसभा चुनाव की बात करें तो राज्‍य की 25 लोकसभा सीटों में से 24 सीटों पर मतगणना के रुझान में भी वाईएसआर कांग्रेस आगे चल रही है. निर्वाचन आयोग के अनुसार, सत्तारूढ़ तेलुगू देशम पार्टी केवल एक सीट पर आगे है. भाजपा और कांग्रेस तस्वीर में कहीं भी नहीं हैं. राज्य में 2014 के विपरीत सभी दलों ने अपने दम पर चुनाव लड़ा है. पिछली बार तेदेपा और भाजपा ने मिलकर चुनाव लड़ा था.

आंध्र प्रदेश में भी विधानसभा चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ ही हुए हैं. राज्‍य में 15वीं विधानसभा के गठन के लिए 11 अप्रैल को मतदान संपन्‍न हुआ और वोटो की गिनती 23 मई को होनी है. 175 सदस्‍यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के 117 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया था. वहीं जगनमोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने 70 सीटें और के चंद्रशेखर राव की पार्टी तेलंगाना राष्‍ट्र समिति (टीआरएस) ने 60 सीटें जीती थीं. कांग्रेस को 22 जबकि बीजेपी को केवल 9 सीटें मिली थीं. एन चंद्रबाबू नायडू यहां के मुख्‍यमंत्री हैं.