वेंकैया नायडू बने NDA के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार

नई दिल्ली : केंद्र में सत्ताधारी भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए ने अपने उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर कैबिनेट मंत्री वेंकैया नायडू के नाम का एलान कर दिया है. इस पद के लिए वेंकैया के नाम की चर्चा पहले से ही चल रही थी. उनके साथ एनडीए की ओर से ही विद्यासागर राव और निर्मला सीतारमन का नाम भी रेस में था. लेकिन नायडू का नाम लगभग तय माना जा रहा था. आज शाम भाजपा की संसदीय बोर्ड की मीटिंग में उनके नाम पर अंतिम मुहर लग गई.

इससे पहले वेंकैया ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि वो किसी पद की लालसा नहीं रखते हैं. हमारी पार्टी किसी की भी उम्मीदवारी पर निर्णय लेगी.

 

बता दें कि उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष ने पहले ही गोपाल कृष्ण गांधी को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है. पश्चिम बंगाल के गवर्नर रहे गोपाल कृष्ण गांधी महात्मा गांधी के पोते हैं. कांग्रेस सहित 18 विपक्षी पार्टियों ने गोपाल कृष्ण को अपना समर्थन देने का फैसला कर लिया है. उपराष्ट्रपति पद के लिए मतदान 5 अगस्त को होंगे. इस पद के लिए नामांकन पत्र भरने की अंतिम तिथि 18 जुलाई है. इससे पहले आज देशभर की विधानसभाओं में राष्ट्रपति चुनाव के लिए चल रही वोटिंग ख़त्म हो गई.

इस पद के लिए वेंकैया नायडू की उम्मीदवारी इसलिए भी महतवपूर्ण है कि वो आंध्रप्रदेश से हैं. एनडीए राष्ट्रपति पद के लिए पहले ही उत्तर भारत से रामनाथ कोविंद को अपना उम्मीदवार बना चुकी है. उम्मीद है कि वह राष्ट्रपति बन भी जाएंगे. पूरे देश में अपनी जड़ें मजबूत करने की कोशिश करने का प्लान कर रही भाजपा के लिए ये एक मौका है. अगर भाजपा दक्षिण का दांव चलती है तो 2019 के लिए भी एक रास्ता तैयार होगा.

नायडू फिलहाल मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं. उन्हें शहरी विकास, आवास और शहरी गरीबी उन्‍मूलन और संसदीय कार्य मंत्री की जिम्मेदारी दजी गई है. वो अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रहे हैं. उनका संबंध आंध्र प्रदेश से है और वो उदयगिरी से सांसद हैं.