लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : राजधानी दिल्ली में कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गाँधी के अध्यक्षता में आज सोमवार को विपक्ष की बैठक हुई. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा, नागरिकता संशोधन एक्ट पर विरोध और देश के मौजूदा हालात पर कांग्रेस ने विपक्ष की बैठक बुलाई.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी इस बैठक में मौजूद रहे. झारखंड में सरकार गठन के बाद राहुल गांधी पहली बार किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में आए हैं.

इस बैठक में राजद, हम, रालोसपा, AIUDF, सीपीआई, सीपीएम, एनसीपी, AIUDF, RLD, शरद यादव, आरएसपी और जेएमएम शामिल हुए. जबकि, बसपा, डीएमके, टीएमसी और सपा को शामिल होने के लिए न्योता भेजा गया था लेकिन, वे शामिल नहीं हुए. महाराष्ट्र में कांग्रेस के साथ सरकार चला रही शिवसेना को इस बैठक के लिए न्योता नहीं दिया गया था. आम आदमी पार्टी को भी नहीं बुलाया गया था.

सोनिया गांधी ने साधा पीएम मोदी पर निशाना

इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सरकार ने नफरत फैलाई और लोगों को सांप्रदायिक आधार पर बांटने की कोशिश की है. सोनिया गांधी ने आगे कहा, ‘प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने लोगों को गुमराह किया. उन्होंने केवल हफ्तों पहले दिए गए अपने खुद के बयानों का खंडन किया और अपने उत्तेजक बयान जारी रखे.’

सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि संविधान को कमजोर किया जा रहा है और शासन का दुरुपयोग हो रहा है. देशभर में युवा विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. तत्काल कारण सीएए और एनआरसी है, लेकिन यह व्यापक निराशा और क्रोध को दिखाता है. यूपी और दिल्ली में पुलिस की प्रतिक्रिया पक्षपातपूर्ण और क्रूर है.