कुछ ही देर में लगेगा सूर्यग्रहण, जाने क्‍या करें, क्‍या न करें

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : आज साल का पहला सूर्य ग्रहण लगने वाला है. यह ग्रहण सुबह 9 बजकर 15 मिनट से दोपहर 3 बजकर 4 मिनट तक रहेगा. यह ग्रहण मंगल के नक्षत्र में पड़ने वाला है.  ज्योतिर्विदों के अनुसार, भारत समेत कई देशों पर इस सूर्य ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव पडने वाला है. देश पहले से ही कोरोना संकट से जूझ रहा है ऐसे में पड़ने वाला ये ग्रहण लोगों की समस्या को और बढ़ा सकता है. इस वक्त छः ग्रह वक्री हैं. ज्योतिष की माने तो ग्रहण काल में कुछ विशेष काम कर के, ग्रहण के कारण जीवन पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव को कम कर सकते हैं.

भारत के अलावा यह ग्रहण एशिया के कई हिस्सों,अफ्रीका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में भी देखा जा सकेगा. सूर्य ग्रहण आज कुछ ही देर में 10 बजकर 15 मिनट से शुरू हो जाएगा और दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर प्रभाव अधिक रहेगा और दोपहर 3 बजकर 4 मिनट पर सूर्य ग्रहण खत्म हो जाएगा.



गर्भवती महिलाओं को रखना है खास ध्‍यान

गर्भवती महिलाओं को ग्रहण काल में सब्जी काटने, शयन करने, पापड़ सेकने आदि उत्तेजक कार्यों से परहेज करना चाहिए तथा धार्मिक ग्रंथ का पाठ करते हुए प्रसन्नचित रहें. इससे भावी संतति स्वस्थ एवं सद्गुणी होती है. गर्भवती महिलाएं पेट पर गाय के गोबर का पतला लेप लगा लें तथा संभव हो तो सुंदरकांड का पाठ  करें.

चंद्रमा की छाया सूर्य का 99 फीसदी भाग ढकेगी. ऐसे में सूर्य के किनारे वाला हिस्सा प्रकाशित रहेगा और बीच का हिस्सा पूरी तरह से चांद की छाया से ढक जाएगा. इस ग्रहण को बिहार समेत देश व दुनिया के विभिन्न हिस्सों में देखा जायेगा. इस ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र में काफी महत्व दिया जा रहा है.

ग्रहण काल में निषेध कार्यों को करने से शारीरिक और मानसिक समस्याएं आती हैं. साथ ही घर में क्लेश, अशांति और अवनति का वातावरण बनता है. इससे बचने के लिए शास्त्रों में बताए गए नियमों का पालन करना चाहिए.

ग्रहण काल में इन मंत्रों का जाप करें

1. “तमोमय महाभीम सोमसूर्यविमर्दन। हेमताराप्रदानेन मम शान्तिप्रदो भव॥१॥”

2.“विधुन्तुद नमस्तुभ्यं सिंहिकानन्दनाच्युत। दानेनानेन नागस्य रक्ष मां वेधजाद्भयात्॥२॥”

3. “ॐ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्न: सूर्य: प्रचोदयात”

क्या करें:
1- ग्रहण देखने के लिए और आंखों को किसी भी नुकसान से बचाने के लिए ग्रहण देखने वाले चश्मों (आईएसओ प्रमाणित) या उचित फिल्टर्स के साथ कैमरे का इस्तेमाल करें.

2- वलयाकार सूर्य ग्रहण देखने का सबसे सुरक्षित तरीका पिनहोल कैमरे से स्क्रीन पर प्रोजेक्शन या टेलिस्कोप है.

3- ग्रहण के दौरान खाना-पीना, स्नान करना, बाहर जाने में कोई दिक्कत नहीं है. ग्रहण को देखना एक शानदार अनुभव होता है.

क्या न करें:

1- नंगी आंखों से सूरज को न देखें.
2- ग्रहण देखन के लिए एक्स-रे फिल्म्स या सामान्य चश्मों (यूवी सुरक्षा वाले भी नहीं) का इस्तेमाल न करें.
3- ग्रहण देखने के लिए पेंट किए ग्लास का भी इस्तेमाल न करें.
4- इस ग्रहण को देखने से न चूकें.