कोरोना महामारी के बीच एक्जाम कराए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, UGC गाइडलाइंस पर मुहर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना संकट के बीच बच्चों की पढ़ाई पर बहुत असर पड़ा है. ऐसे में बच्चों को घर पर रहकर ही ऑनलाइन क्लास के जरिये पढ़ाई करनी पड़ रही है. ऐसे में एग्जाम को लेकर अब तक स्कूल, विश्वविद्यालयों ने कोई बड़ा निर्णय नहीं लिया है. कोरोना के खतरे में एग्जाम लेना कहीं से संभव नहीं है.

इस के बीच आज सुप्रीम कोर्ट ने विश्वविद्यालयों के फाइनल ईयर के छात्रों की परीक्षा से जुड़े मामले में बड़ा फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट ने यह साफ कर दिया कि परीक्षाओं को आयोजित किए बिना राज्य डिग्री प्रदान करने का निर्णय नहीं ले सकते है. छात्रों को अगर पास होना है तो हर हाल में उन्हें एग्जाम तो देनी ही होगी.



सुप्रीम कोर्ट ने यूजीसी के दिशा-निर्देश पर मुहर लगा दी है. कोर्ट ने कहा कि यूजीसी की अनुमति के बिना राज्य एग्जाम रद्द नहीं कर सकते और छात्रों को पास करने के लिए एग्जाम जरुरी है और राज्यों को 30 सितंबर तक एग्जाम कराने होंगे. कोर्ट ने कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत राज्य महामारी को ध्यान में रखते हुए परीक्षा स्थगित कर सकते हैं और यूजीसी के साथ सलाह मशविरा करके नई तिथियां तय कर सकते हैं.